Hindi Essay on “Mera Priya Bhojan”, “मेरा प्रिय भोजन”, Hindi Essay for Class 5, 6, 7, 8, 9 and Class 10 Students, Board Examinations.

मेरा प्रिय भोजन

Mera Priya Bhojan

हमारे शरीर को स्वस्थ एवं चुस्त रखता है। भोजन ही हमें रोगों से लड़ने की शक्ति देता है।

बच्चों को प्रायः अधिक मीठी या अधिक नमकीन चीजें ही अच्छी लगती हैं। जैसे चॉकलेट, चिप्स आदि। मुँह का स्वाद बढ़ानेवाली ये चीजें दाँतों के लिए हानिकारक हो सकती हैं।

मुझे भी चॉकलेट, टॉफी, चिप्स, बिस्कुट बहुत अच्छे लगते हैं। मेरी माँ ने बचपन से ही भोजन के बाद मुझे ये सब खाने की आदत डाली।

मुझे नुडल्स सबसे अधिक भाती हैं। माँ इन्हें घर में बनाती हैं। वे रंग-बिरंगी सब्ज़ियाँ डालकर नूडल्स में खूब रंग भर देती हैं। मैं टमाटो सास के साथ इन्हें खाता हूँ और साथ में ताजा फलों का रस पीता हूँ।

हमें स्वाद के साथ स्वास्थ्य का भी पूरा ध्यान रखना चाहिए। हम बचपन में जो आदतें बनाते हैं, वे पूरे जीवन हमारे साथ रहती हैं।

2 Comments

  1. Pagal May 3, 2020
  2. Deepti September 2, 2020

Leave a Reply