Hindi Essay on “Maine Holi Manai”, “मैंने होली मनाई”, for Class 5, 6, 7, 8, 9 and Class 10 Students, Board Examinations.

मैंने होली मनाई

Maine Holi Manai

जाडो मार्च के माह में आनेवाले इस पर्व की बच्चे बहुत उत्साह से प्रतीक्षा करते हैं। नई-नई तरह की पिचकारियों में पानी भर सबको तंग करने का अपना ही आनंद है। 

इस बार होली पर सभी संबंधी हमारे घर आए। सबने रंगों से खूब होली खेली। सभी बच्चों के साथ मैंने भी रंगीन पानी पिचकारियों में भर  सभी को गीला किया। यह सभी रंग घर में हलदी, चुकंदर, चंदन आदि से बनाए हुए थे।

हमने सबकी खूब तस्वीरें खींची। माँ ने खाने-पीने के सभी पकवान आँगन में ही लगाए थे। सबने हाथ-मुँह धोकर खूब खाया। फिर ढोल पर खूब नाचे।

शाम तक थके-हारे सभी अपने घर लौट गए। मैंने भी मल-मलकर। स्नान किया और सो गया। परंतु अभी भी मैं ऐसा एक और दिन इसी उत्साह के साथ मना सकता हूँ।

Leave a Reply